Dard Bhari Shayari in Hindi on Bus Pi Gaye

थोड़ा गम मिला तो घबरा के पी गए,
थोड़ी ख़ुशी मिली तो मिला के पी गए,
यूँ तो हमें न थी ये पीने की आदत,
शराब को तनहा देखा तो तरस खा के पी गए..

Khubsoorat Hai Zindagi – Hindi Sad Shayari, Dard Shayari

Khubsoorat hai zindagi khwaab ki tarah,
Jaane kab toot jaye kaanch ki tarah,
Kisi modh pe mulakat ho gai hamari,
To aankhen mat modna anjaano ki tarah.

Dard Bhari Bewafa Shayari.

Dard Bhari Bewafa Shayari.   


लिख-लिख कर मिटा दिए तेरी बेवफाई के गीत, किया करती थी तू भी वफ़ा एक ज़माने में। Likh-likh Kar Mita Diye Teree Bewafai Ke Geet, Kiya Karati Thi Tu Bhi Vafa Ek Zamaane Mein!.   



मझे तू अपना बना या न बना तेरी खुशी, तू ज़माने में मेरे नाम से बदनाम तो है। Mujhe Too Apana Bana Ya Na Bana Teri Khushi, Tu Zamaane Mein Mere Naam Se Badanaam To Hai..   




कितना और दर्द देगा बस इतना बता दे, ऐसा कर ऐ खुदा मेरी हस्ती मिटा दे, यूं घुट घुट के जीने से तो मौत बेहतर है, मैं कभी न जागूं मुझे ऐसी नींद सुला दे। Kitana Aur Dard Dega Bas Itana Bata De, Aisa Kar Ai Khuda Meree Hastee Mita De, Yun Ghut Ghut Ke Jeene Se To Maut Behatar Hai, Main Kabhee Na Jaagoon Mujhe Aisee Neend Sula De..   

कभी ग़म तो कभी तन्हाई मार गयी, कभी याद आ कर उनकी जुदाई मार गयी, बहुत टूट कर चाहा जिसको हमने, आखिर में उनकी ही बेवफाई मार गयी Kabhi Gam To Kabhi Tanhai Maar Gayi, Kabhi Yaad Aa Kar Unaki Judai Maar Gayi, Bahut Toot Kar Chaaha Jisako Hamane, Aakhir Mein Unakee Hee Bevaphaee Maar Gayi. बहुत ईमानदार हो गया है ये बेईमान शहर,.   



बेवफाई उसकी दिल से मिटा के आया हूँ, ख़त भी उसके पानी में बहा के आया हूँ, कोई पढ़ न ले उस बेवफा की यादों को, इसलिए पानी में भी आग लगा कर आया हूँ। Bewafai Usaki Dil Se Mita Ke Aaya Hoon, Khat Bhi Usake Paani Mein Baha Ke Aaya Hoon, Koi Padh Na Le Us Bewafa Ki Yaadon Ko, Isliye Pani Mein Bhee Aag Laga Kar Aaya Hoon..   

कैसे मिलेंगे हमें चाहने वाले बताइये, दुनिया खड़ी है राह में दीवार की तरह, वो बेवफ़ाई करके भी शर्मिंदा ना हुए, सजाएं मिली हमें गुनहगार की तरह। Kaise Milenge Hamein Chahane Wale Bataiye, Duniya Khadi Hai Raah Mein Divaar Ki Tarah, Vo BeWafai Karake Bhi Sharminda Na Hue, Sajaen Mili Hamen Gunahagaar Ki Tarah..   



जिंदगी ने मेरे दर्द का क्या खूब इलाज सुझाया, वक्त को दवा बताया, ख्वाहिशों से परहेज बताया। Zindagi Ne Mere Dard Ka Kya Khub Ilaaj Sujhaaya, Waqt Ko Dawa Bataaya, Khwaahishon Se Parahej Bataaya..   

जो जले थे हमारे लिऐ, बुझ रहे हैं वो सारे दिये, कुछ अंधेरो ने की थी साजिशें, कुछ उजालों ने धोखे दिये. Jo Jale The Hamaare Liye, Bujh Rahe Hain Woh Saare Diye, Kuch Andhero Ne Ki Thi Sajishen, Kuch Ujaalon Ne Dhokhe Diye..   

क्यों जिंदगी इस तरह तुम दूर हो गए क्या बात है जो इस तरह मगरूर हो गए। हम तरसते रहे तुम्हारा प्यार पाने को बेवफा बनकर तुम तो मशहूर हो गए।। Kyon Zindagi Is Tarah Tum Door Ho Gaye Kya Baat Hai Jo Is Tarah Magaroor Ho Gaye. Hum Tarasate Rahe Tumhaara Pyaar Paane Ko Bewafa Banakar Tum To Mashahoor Ho Gaye..!.   



Dard Bhari Bewafa Shayari In Hindi.   



आप बेवफा होंगे सोचा ही नहीं था, आप भी कभी खफा होंगे सोचा नहीं था, जो गीत लिखे थे कभी प्यार पर तेरे, वही गीत रुसवा होंगे सोचा ही नहीं था। Aap Bewafa Honge Socha Hi Nahin Tha, Aap Bhi Kabhi Kafa Honge Socha Nahin Tha, Jo Geet Likhe The Kabhi Pyaar Par Tere, Wahi Geet Rusava Honge Socha Hi Nahin 
Tha..   



टूटा दिल तो गम कैसा, वो चल दिये तो सितम कैसा, मन भरा यार बदले, बेवफा हुए साफ, तो फिर इश्क का भ्रम कैसा । Tuta Dil To Gam Kaisa, Woh Chal Diye To Sitam Kaisa, Man Bhara Yaar Badale, Bewafa Huye Saaf, To Phir Ishk Ka Bhram Kaisa!.   


दर्द की दीवार पर अपनी फरियाद लिखा करते है, ऐ खुदा उन्हें खुश रखना जिन्हें हम प्यार किया करते हैं। Dard Ki Divaar Par Apani Fariyad Likha Karate Hai, Aye Khuda Unhen Khush Rakhana Jinhen Ham Pyaar Kiya Karate Hain..   






धीरे धीरे से अब तेरे प्यार का दर्द कम हुआ, ना तेरे आने के खुशी ना तेरे जाने का गम हुआ, जब लोग मुझसे पूछते हैं हमारे प्यार की दास्तान, कह देता हूँ एक फसाना था जो अब खत्म हुआ। Dhire Dhire Se Ab Tere Pyaar Ka Dard Kam Hua, Na Tere Aane Ke Khushi Na Tere Jaane Ka Gam Hua, Jab Log Mujhase Puchate Hain Hamare Pyaar Ki Daastaan, Kah Deta Hoon Ek Fasana Tha Jo Ab Khatm Hua..   





कभी ग़म तो कभी तन्हाई मार गयी, कभी याद आ कर उनकी जुदाई मार गयी, बहुत टूट कर चाहा जिसको हमने, आखिर में उनकी ही बेवफाई मार गयी। Kabhi Gam To Kabhi Tanhai Maar Gayi, Kabhi Yaad Aa Kar Unaki Judai Maar Gayi, Bahut Toot Kar Chaaha Jisako Hamane, Aakhir Mein Unakee Hee Bevaphaee Maar Gayi..   


हसीनो ने हसीन बनकर गुनाह किया, औरों को तो ठीक पर हम को भी तबाह किया, अर्ज़ किया जब ग़ज़लों मे उनकी बेवफ़ाई को तो, औरों ने तो ठीक उन्होने भी वा वा किया Hasino Ne Hasin Banakar Gunah Kiya, Auron Ko To Thik Par Ham Ko Bhi Tabaah Kiya, Arz Kiya Jab Gazalon Me Unaki Bewafai Ko To, Auron Ne To Thik Unhone Bhee Wah Wah Kiya.   







टूटे हुए दिल ने भी उसके लिए दुआ मांगी, मेरी साँसों ने हर पल उसकी ख़ुशी मांगी, न जाने कैसी दिल्लगी थी उस बेवफा से, कि मैंने आखिरी ख्वाहिश में भी उसकी वफ़ा मांगी। Toote Hue Dil Ne Bhee Usake Lie Dua Maangi, Meri Saanson Ne Har Pal Uski Khushi Maangi, Na Jaane Kaisi Dillagee Thi Us Bewafa Se, Ki Mainne Aakhiri Khwahish Mein Bhi Usaki Wafa Maangi..   


हम तो जी रहे थे उनका नाम लेकर वो गुज़रते थे हमारा सलाम लेकर कल वो कह गये भुला दो हुमको हमने पूछा कैसे…? तो चले गये हाथो मे जाम देकरl Ham To Ji Rahe The Unaka Naam Lekar Woh Guzarate The Hamaara Salaam Lekar Kal Woh Kah Gaye Bhula Do Humako Hamane Puchha Kaise…? To Chale Gaye Haatho Me Jaam Dekara.   







ज़िक्र उस का ही सही बज़्म में बैठे हो फ़राज़, दर्द कैसा भी उठे हाथ न दिल पर रखना। Zikr Us Ka Hi Sahi Bazm Mein Baithe Ho Faraaz, Dard Kaisa Bhee Uthe Haath Na Dil Par Rakhana..   


दुनिया बहुत मतलबी है, दुनिया बहुत मतलबी है, साथ कोई क्यों देगा, मुफ्त का यहाँ कफ़न नहीं मिलता, तो बिना गम के प्यार कौन देगा। Duniya Bahut Matalabi Hai, Duniya Bahut Matalabi Hai, Saath Koee Kyon Dega, Muft Ka Yahaan Kafan Nahin Milata, To Bina Gam Ke Pyaar Kaun Dega..   







वफ़ा के नाम से मेरे सनम अनजान थे, किसी की बेवफाई से शायद परेशान थे, हमने वफ़ा देनी चाही तो पता चला… हम खुद बेवफा के नाम से बदनाम थे। Wafa Ke Naam Se Mere Sanam Anajaan The, Kisi Ki Bewafai Se Shaayad Pareshaan The, Hamane Wafa Deni Chahi To Pata Chala… Ham Khud Bewafa Ke Naam Se Badanaam The..   



Par in saanson ka kya jo aapke naam se chalti hai
Apni dhadkanon ko aapke bina kaise sambhalunga
लबों को रोक लूँगा दिल को समझा लूँगा
पर इन साँसों का क्या जो आपके नाम से चलती है
अपनी धड़कानों को आपके बिना कैसे संभालूँगा








Ye jo apki aankhon mein nami utar aayi hai,
Woh to meri yaadon ki parchai hai,
Itna mat yaad karo mujhe meri jaan,
Hichkiyo se meri jaan nikal aayi hai…..
ये जो आपकी आँखों में नमी उतर आई है,
वो तो मेरी यादों की परछाई है,
इतना मत याद करो मुझे मेरी जान,
हिचक़ियो से मेरी जान निकल आई है…..


Aapki mohabbat mere dard ki dawa ban gayi
Aapki doori meri chahat ki saza ban gayi
Kaise bhoolun aapko ek pal ke liye
Aapki yaad mere jeene ki wajah ban gayi….
आपकी मोहब्बत मेरे दर्द की दवा बन गयी
आपकी दूरी मेरी चाहत की सज़ा बन गयी
कैसे भूलूँ आपको एक पल के लिए
आपकी याद मेरे जीने की वजह बन गयी…..







Jo main nahi hun waisa dikhna mujhe nahi aata
Dil mein kuch aur zabaan pe kuch aur
Ye baazigari ka kamaal mujhe nahi aata
Bas itni si iltija hai upar waale se
Mera naam jiske labon pe bhi aye
Muskurahat ke saath aye
हर किसी को खुश रख सकूँ वो तरीका मुझे नही आता
जो मैं नही हूँ वैसा दिखना मुझे नही आता
दिल में कुछ और ज़बान पे कुछ और
ये बाज़िगरी का कमाल मुझे नही आता
बस इतनी सी इल्तिजा है उपर वाले से
मेरा नाम जिसके लबों पे भी आए
मुस्कुराहट के साथ आए







Meri khamoshi ki wajah ko samajhte
Nazarein to kehti hain hazaar baatein
Kaash meri ek nazar ka matlab wo samajhte…..






मेरी खामोशी का वजह को समझते
नज़रें तो कहती हैं हज़ार बातें
काश मेरी एक नज़र का मतलब वो समझते…



Dard Bhari Shayari


Dard Bhari Shayari 

Dard Bhari Shayari




dard bhari shayari in hindi
Har kadam har pal saath hai
Door hoke bhee ham aapake paas hai
Aap ko ho na ho par hamen aapakee kasam
Aaap kee kamee ka har pal ehasaas hai

Best Hindi Shayari Collection
Gam mein hoon ya hoon shaad mujhe khud pata nahin
Khud ko bhee hoon main yaad mujhe khud pata nahin
Main tujhako chaahata hoon magar maangata nahin
Khuda meree aarazoo mujhe khud pata nahin.

dard shayari hindi
ज़िन्दगी में जो कभी रुसवा ना करे
जान बनके उतर जाओ उसकी जान में
जो जान से भी ज्यादा तुमको प्यार करे


Ek Tasalli Ho Gayi Chalo Pehchante Toh Hain.
हमें देख कर जब उसने मुँह मोड़ लिया,
एक तसल्ली हो गयी चलो पहचानते तो हैं।


Pehle Bhi Hua Karta Tha Iss Baar Bahut Hai.
अब दर्द उठा है तो गज़ल भी है जरूरी,
पहले भी हुआ करता था इस बार बहुत है।



Humari Tanhayion Se Bhi Aankh Churate Rahe.
Humein Hi Mil Gaya Khitab-e-Bewafa Kyunki,
Ham Har Dard Muskura Kar Chhupate Rahe.
वो तो अपना दर्द रो-रो कर सुनाते रहे,
हमारी तन्हाइयों से भी आँख चुराते रहे,
हमें ही मिल गया खिताब--बेवफा क्योंकि,
हम हर दर्द मुस्कुरा कर छुपाते रहे।


Beshak Wajah Tum The Par Dil Toh Humara Tha.
दर्द हमने संभाला है हमने आँसू बहाए हैं,
बेशक वजह तुम थे पर दिल तो हमारा था।


Dard Jo Sunaya Apna Toh Taliyan Baj Uthhi.
यह भी एक ज़माना देख लिया है हम ने,​
दर्द जो सुनाया अपना तो तालियां बज उठीं


यह ग़ज़लों की दुनिया भी अजीब है;
यहाँ आँसुओं का भी जाम बनाया जाता है;
कह भी देते हैं अगर दर्द--दिल की दास्तान;
फिर भी वाह-वाह ही पुकारा जाता है।

 दर्द शायरी  Dard Bhari Shayari



Very very very sad dard shayari on pyar & zindagi
जाने क्यूँ आजकल, तुम्हारी कमी अखरती है बहुत
यादों के बन्द कमरे में, ज़िन्दगी सिसकती है बहुत

पनपने नहीं देता कभी, बेदर्द सी उस ख़्वाहिश को
महसूस तुम्हें जो करने की, कोशिश करती है बहुत

दावे करती हैं ज़िन्दगी, जो हर दिन तुझे भुलाने के
किसी किसी बहाने से, याद तुझे करती है बहुत


आखिर क्यों मुझे तुम इतना दर्द देते हो
जब भी मन में आये क्यों रुला देते हो
निगाहें बेरुखी हैं और तीखे हैं लफ्ज़
ये कैसी मोहब्बत हैं जो तुम मुझसे करते हो


मेरे बहते आंसुओ की कोई कदर नहीं
क्यों इस तरह नजरो से गिरा देते हो
क्या यही मौसम पसंद है तुम्हे जो,
सर्द रातो में आंसुओ की बारिश करवा देते हो


तीर दर्द का सा लगता है सीने में मेरे
जब कांपता देख भी तुम मुस्कुरा देते हो
लोग तो मुर्दे को भी सीने से लगा कर प्यार करते हैं
फिर क्यों मेरे करीब आकर तुम हर बार ज़ख्म नया देते हो


आखिर क्यों मुझे तुम इतना दर्द देते हो
जब भी मन में आये क्यों रुला देते हो

Dard Bhari Shayari


Dard bhari Shayari


ना किया कर अपने दर्द को शायरी में ब्यान नादान दिल,
कुछ लोग टूट जाते हैं इसे अपनी दास्तान समझकर। 😔

Na kiya kar apne dard ko Shayari mein byaan aye nadan dil,
kuchh log toot jaate hain ise apni daastaan samajhkar. 😔

Use meri shayari pasand aai kyun ki esme dard tha
Use meri shayari pasand aai kyun ki esme dard tha..
na jaane kyon..
Main pasand nahin aaya mujhme usse jyada dard tha. 😔

उसे मेरी शायरी पसंद आई क्योंकि इनमें दर्द था..
जाने क्यों..
मै पसंद नहीं आया मुझमें उससे ज्यादा दर्द था। 😔



Dard Shayari, Kaun dhoondhen jawaab dardo ke​
Kahne waalon ka kuchh nahin jaata​
Sahane waale kamaal karte hain
Kaun dhoondhen jawaab dardo ke​,
Log to bas sawaal karte hai.

कहने वालों का कुछ नहीं जाता
सहने वाले कमाल करते हैं
कौन ढूंढें जवाब दर्दों के​,
लोग तो बस सवाल करते है।




Kiya Hai Bardasht Tera Har Dard, Shayari
Kiya Hai Bardasht Tera Har Dard Isee Aas Ke Saath,
Ke Khuda Noor Bhi Barsata Hai Aazmaishon Ke Baad. 💔

किया है बर्दाश्त तेरा हर दर्द इसी आस के साथ,
कि खुदा नूर भी बरसाता है आज़माइशों के बाद। 💔



Tujhse Pahle Bhi Kayi Zakhm The, Shayari
Tujhse Pahle Bhi Kayi Zakhm The Seene Mein Magar,
Ab Ke Woh Dard Hai Ke Ragein TootTi Hain. 💔

तुझसे पहले भी कई जख्म थे सीने में मगर,
अब के वह दर्द है दिल में कि रगें टूटती हैं। 💔


Parda Girte Hi Khatm Ho Jaate Hain Tamaashe Saare,
Khoob Rote Hain Fir Auron Ko Hansaane Wale. 💔

पर्दा गिरते ही खत्म हो जाते हैं तमाशे सारे,
खूब रोते हैं फिर औरों को हँसाने वाले। 💔


Mujh Par Sitam Dhha Gaye Meri Hi Ghazal Ke Sher,
Parh-Parh Ke Kho Rahe Hain Woh Ghair Ke Khayal Mein. 💔

मुझ पर सितम ढहा गए मेरी ही ग़ज़ल के शेर,
पढ़-पढ़ के खो रहे हैं वो गैर के ख्याल में। 💔

मोहब्बत उसको मिलती हे जिनका नसीब होता हे,
बहुत कम हांथो मे ये मोहब्बत की लकीर होती हे,
कभी कोई अपनी मोहब्बत से ना बिछड़े,
कसम से ऐसे हालत मे बहुत तक़लीफ़ होती हे! 💔


Dil dukhane ka kaam chhod do,
Mere naam koi to paigaam chhod do,
Wafa kar nahin sakte to na hi sahi,
Lena mehfil mein mera naam chhod do. 💔

दिल दुखाने का काम छोड़ दो,
मेरे नाम कोई तो पैगाम छोड़ दो,
वफ़ा कर नहीं सकते तो ना ही सही,
लेना महफिल में मेरा नाम छोड़ दो! 💔